Gati Question Answer – गति Subjective & Objective Notes 2024

Gati Question Answer, गति Subjective & Objective Notes, motion questions and answers pdf, कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 9 गति प्रश्न उत्तर, motion multiple choice questions with answers pdf, Ncert Class 9th Gati Notes in Hindi, Bseb Bihar Board 9th Class Science Gati Question Answer

1. विज्ञान किसे कहते है ?

उत्तर – मनुष्यों के अवलोकनों एवं प्रयोगों से प्राप्त वास्तविक एवं क्रमबद्ध ज्ञान को विज्ञान कहते है | दुसरे शब्दों में जिस शास्त्र को पढने से विशेष ज्ञान प्राप्त हो, उसे विज्ञान कहते है |

2. विज्ञान को कितने भागो में बाटा गया है ?

उत्तर – विज्ञान को मुख्यतः दो भाग में बांटा गया है,, जो इस प्रकार से है –

क. सजीव विज्ञान – विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत सजीव वस्तुओ के बारे में अध्ययन किया जाता है | उसे सजीव विज्ञान कहते है | जैसे – वनस्पति शास्त्र,, प्राणी शास्त्र

ख. निर्जीव विज्ञान – विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत निर्जीव वस्तुओ का अध्ययन किया जाता है,, उसे निर्जीव विज्ञान कहते है | जैसे – भौतिक, रासायन शास्त्र, भूगोल, खगोल, ज्योति शास्त्र, आदि |

3. भौतिक राशि किसे कहते है ?

उत्तर – ऐसी राशि जिसमे परिणाम और मात्रक दोनों हो उसे भौतिक राशि कहते है |

4. परिमाण किसे कहते है ?

उत्तर – किसी भौतिक राशि के संख्यात्मक मान को परिमाण कहते है |

5. मात्रक किसे कहते है ?

उत्तर – भौतिक राशियों को मापने के लिए जिस इकाई का उपयोग किया जाता है,, उसे मात्रक कहते है | जैसे – फुट पाउंड , न्यूटन, किलोमीटर, मीटर, जुल आदि |

Class 9th गति Notes Question Answer

Gati Question Answer
Gati Question Answer
6. मात्रक कितने प्रकार के होते है,, Or मूल मात्रक या अधारी मात्रक किसे कहते है ?

उत्तर – ऐसा मात्रक जो किसी अन्य मात्रक पर निर्भर नहीं करता है,, उसे मूल मात्रक या आधारी मात्रक कहते है |

7. व्युत्पन्न मात्रक किसे कहते है ?

उत्तर – वे राशियाँ जो मूल भौतिक राशियो से प्राप्त किए जाते हो,, उसे व्युत्पन्न राशि कहते है,, और इन राशियों के मात्रक को व्युत्पन्न मात्रक कहते है |
जैसे :- उर्जा शक्ति, वेग, संवेग, आवेग, विस्थापन आदि |

8. सहायक मात्रक किसे कहते है ?

उत्तर – वे राशियाँ जो मूल राशियों की सहायता करता है,, सहायक राशि कहलाता है,, और इन राशियों के मात्रको को सहायक मात्रक कहते है | जैसे :- समतल कोण तथा ठोस कोण के मात्रक सहायक मात्रक है |

9. F.P.S प्रणाली क्या है ?

उत्तर – F.P.S प्रणाली एक ब्रिटिश प्रणाली है,, जिसमे लम्बाई को फुट में द्रव्यमान को पाउंड में और समय को सकेंड में मापा जाता है |

10. C.G.S प्रणाली क्या है ?

उत्तर – C.G.S प्रणाली एक फ़्रांसिसी प्रणाली है,, जिसमे लम्बाई को सेंटीमीटर में द्रव्यमान को ग्राम में तथा संयम को सकेंड में मापा जाता है |

11. M.K.S प्रणाली क्या है

उत्तर – M.K.S प्रणाली एक फ़्रांसिसी प्रणाली है,, जिसमे लम्बाई को मीटर में द्रव्यमान को किलोग्राम में तथा समय को सकेंड में मापा जाता है |

12. S.I अंतराष्ट्रीय प्रणाली क्या है ?

उत्तर – S.I अंतराष्ट्रीय प्रणाली एक फ़्रांसिसी प्रणाली है,, जो M.K.S प्रणाली का संशोधित रूप है,, जो 1971 ई. में लागू किया गया | इसका विस्तृत रूप परिमेयी मीटर किलोग्राम सकेंड एम्पियर प्रणाली है,, यह एक अन्तराष्ट्रीय प्रणाली है,, ‘’जिसे सकेंड में S.I प्रणाली कहा जाता है’’ |

13. आधारी राशि या आधारी मात्रको तथा उस मात्रको के संकेतो को लिखे ?

उत्तर – आधारी राशि सात है,, तथा इन राशियों को S.I मात्रक तथा सकेंत इस प्रकार है –

मूल राशियाँS.I मात्रकसकेंत
लम्बाई  मीटरM
द्रव्यमानकिलोग्रामKG
समयसमयS
ताप या तापमानकेल्विनK
ज्योति तीव्रताकैंडलCD
विधुत धाराएम्पियरA
पदार्थ का द्रव्यमानमोलMOL

BSEB Bihar Board Class 9th Science Gati Objective Notes in Hindi

14. मापन मुख्य रूप से एक प्रक्रिया है ?

क. गणना की
ख. बदलने की
ग. तुलना की
घ. अंतर स्पष्ट करने की
Answer – तुलना करने की

15. किसी राशि के परिमाण के पूर्ण विवरण के लिए आवश्यक है ?

क. मात्रक
ख. संख्यांक
ग. मात्रक और संख्यांक दोनों
घ. इनमे से कोई नहीं
Answer – मात्रक और संख्यांक दोनों

16. S.I मात्रक में कितने आधारी मात्रक होते है ?

क. तीन
ख. चार
ग. सात
घ. ग्यारह
Answer – सात

17. इनमे से कौन आधारी राशि नहीं है ?

क. द्रव्यमान
ख. वेग
ग. समय
घ. विधुत – धारा
Answer – वेग

18. 1kg बराबर होता है ?

क. 10kg
ख. 50g
ग. 100g
घ. 1000g
Answer – 1000g

19. ऊष्मा का S.I मात्रक होता है |

उत्तर – जुल

20. गति किसे कहते है ?

उत्तर – जब कोई वस्तु समय के साथ स्थान परिवर्तन करे,, तो उसे गति कहते है | जैसे दौड़ता हुआ बालक, बहती हुई जल धारा,, चलती हुई बल आदि |

21. नियमित या रैखिक गति किसे कहते है ?

उत्तर – रैखिक गति या नियमित गति एक ऐसी गति है | जिसमे वास्तु हमेशा सीधी या वक्र रेखाओं में गमन करती है | जैसे – सड़क पर दौड़ता हुआ बालक, बन्दुक से छोड़ी हुई गोली आदि |

22. यादृच्छिक गति या अनियमित गति किसे कहते है ?

उत्तर – यादृच्छिक या अनियमित गति एक ऐसी Gati है,, जिसमे वास्तु हमेशा सीधी रेखाओं में नहीं अपितु बदलती हुई दिशाओं में गमन करती है |

23. ढोलनी गति किसे कहते है ?

उत्तर – ढोलनी एक ऐसी Gati है,, जिसमे वस्तु हमेशा एक निश्चित बिंदु के आगे – पीछे या ऊपर – निचे गति करती है | जैसे – घड़ी के पैंडलम की गति, झूले की गति आदि |

Gati Subjective Question Answer

24. आर्वत गति किसे कहते है ?

उत्तर – आर्वत गति एक ऐसी Gati है,, जिसमे वस्तु हमेशा एवं निश्चित बिंदु पर और निश्चित समय अंतराल पर अपनी गति को दोहराती रहती है | जैसे – घड़ी की पैंडलम की गति आदि |

Facebook GroupJoin Now
Telegram GroupJoin Now
WhatsApp GroupJoin Now
25. वृतीय गति किसे कहते है ?

उत्तर – वृतीय गति एक ऐसी Gati है,, जिसमे वस्तु हमेशा वृताकार पथ पर ही चलती रहती है | जैसे – सूर्य के चारो और पृथ्वी की Gati,, पृथ्वी के चारो और चन्द्रमा की Gati आदि |

26. विराम किसे कहते है ?

उत्तर – जब कोई वस्तु समय के साथ स्थान परिवर्तन न करे तो उसे विराम कहते है | जैसे – टेबुल पर रखी गई पुस्तक

27. विराम और गति परस्पर एक दुसरे से आपेक्षित है | कैसे

उत्तर – विराम और Gati परस्पर एक – दुसरे से आपेक्षित है,, क्योकि चलती हुई रेलगाड़ी के अंदर बैठा हुआ यात्री जब बाहर खड़े व्यक्ति को देखता है | तो उसके ऐसा महसूस होता है,, की वह विराम में है | और बाहर खड़ा व्यक्ति गति कर रहा है | ठीक उसी प्रकार बाहर खड़ा व्यक्ति रेलगाड़ी के अंदर बैठा यात्री को देखता है | तो ऐसा महसूस होता है | की हम विराम मे है,, और रेलगाड़ी में बैठा यात्री गति कर रहा है,, इससे स्पष्ट होता है , की वस्तु की गति कल्पना विराम के स्पेक्षा तथा विराम की कल्पना Gati के स्पेक्षा है,, अतः विराम और Gati एक दुसरे के सपेक्षा है |

28. भौतिक राशि क्या है,, भौतिक राशि को कितने भागो में बांटा गया है ?

उत्तर – ऐसी राशि जिसमे परिमाण और मात्रक दोनों हो, उसे भौतिक राशि कहते है |
भौतिक राशि को दो भागो में बांटा गया है, जो इस प्रकार से है –
क. सदिश राशी
ख. अदिश राशि

29. सदिश राशि किसे कहते है ?

उत्तर – ऐसी राशि जिसमे परिमाण के साथ –साथ दिशा का भी ज्ञान हो, उसे सदिश राशी कहते है |
जैसे :- विस्थापन , वेग , त्वरण, बल , भार आदि

30. अदिश राशि किसे कहते है ?

उत्तर – ऐसी राशि जिसमे केवल परिमाण हो, उसे अदिश राशि कहते है | जैसे – लम्बाई, समय, ताप, कार्य, शक्ति आदि

31. सदिश राशी और अदिश राशी में क्या अंतर है ?

उत्तर – सदिश राशि और अदिश राशि में निम्नलिखित अंतर है जो इस प्रकार से है –

क. सदिश राशिख. अदिश राशि
इसमें परिमाण के साथ साथ दिशा का भी ज्ञान होता है |इसमें केवल परिमाण होता है |
यह सदिश राशि योग के नियत का पालन करता है |या अदिश राशि विजिय योग के नियम का पालन करता है |
सदिश राशि को व्यक्त करने के लिए माथे पर तीर का निशाँ लगाया जाता है |अदिश राशि को व्यक्त करने के लिए माथे पर तीर का निशाँ लगाया जाता है |
32. दुरी और विस्थापन में क्या अंतर है ?

उत्तर – दुरी और विस्थापन में निम्नलिखित अंतर है,, जो इस प्रकार से है –

क. दुरीख. विस्थापन
वस्तु द्वारा तय की गई रास्ते की लम्बाई को दुरी कहते है। वस्तु के प्रारंभिक एवं अंतिम स्थित के बिच की निम्नतम दुरी को विस्थापन कहते है।
यह एक अदिश राशि है।यह एक सदिश राशि है।
तय की गई दुरी हमेशा धनात्मक होती है।तय किया गया विस्थापन धनात्मक ऋणात्मक शून्य हो सकती है।
तय की गई दुरी विस्थापन के समान होती है। या तो विस्थापन से ज्यादातय किया गया विस्थापन तय की गई दुरी के समान या दुरी से कम होती है।

Leave a Comment